कर्मचारियों ने दिखाया दम तो कंपनी ने किया पुरस्कृत

SEO SMO और SEM में क्या अंतर है?

हालांकि SEM के परिणाम तेजी से मिलेंगे, लेकिन यह आपके बजट के आकार तक सीमित है। SEO और SMO अधिक दीर्घकालिक समाधान हैं, जिन्हें अगर सही तरीके से किया जाए, तो लगातार वांछित परिणाम मिल सकते हैं। अधिकांश व्यवसाय पूर्ण पहुंच और लंबे समय तक चलने वाले प्रभाव को सुनिश्चित करने के लिए ऑनलाइन मार्केटिंग छतरी के भीतर विभिन्न तकनीकों का चयन करते हैं।

कौन सा बेहतर SEO या SMO है?

SEO का उपयोग आपके व्यवसाय पर ध्यान देने के लिए किया जाता है, जबकि SMO का उपयोग आपके व्यवसाय के विपणन के लिए किया जाता है। जबकि एसएमओ का उपयोग सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर लिंक, पोस्ट, टैग आदि को साझा करके सूचना और जागरूकता फैलाने के लिए किया जाता है। SEO को परिणाम दिखाने में अधिक समय लगता है। जबकि एसएमओ परिणामों के मामले में अधिक तेज और ठोस है।

SEO और सोशल मीडिया में क्या अंतर है?

SEO और SMM के बीच का अंतर यह है कि एसएमएम और एसएमओ के बीच अंतर SEO का मतलब सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन है और SMM का मतलब सोशल मीडिया मार्केटिंग है। SEO अधिक ट्रैफ़िक प्राप्त करने के लिए खोज इंजन में वेबसाइट की दृश्यता बढ़ाता है। ब्रांड जागरूकता बढ़ाने के लिए SMM सोशल मीडिया साइटों का उपयोग करता है।

क्या SEO और SEM समान हैं?

SEO को कभी-कभी एक छत्र शब्द के रूप में उपयोग किया जाता है जिसमें SEM शामिल होता है, लेकिन क्योंकि SEM सख्ती से भुगतान किए गए विज्ञापन को संदर्भित करता है, वे वास्तव में अलग होते हैं। SEM सशुल्क विज्ञापनों के माध्यम से ट्रैफ़िक प्राप्त करने के बारे में है, और SEO ऑर्गेनिक (अवैतनिक) ट्रैफ़िक पैटर्न प्राप्त करने, निगरानी और विश्लेषण करने के बारे में अधिक है।

एसएमओ के अंतर्गत क्या आता है?

सोशल मीडिया ऑप्टिमाइजेशन (एसएमओ) को समझना फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, स्नैपचैट, यूट्यूब, पिंटरेस्ट और टिकटॉक सहित डिजिटल मार्केटिंग के लिए विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किया जा सकता है।

एसएमओ और पीपीसी क्या है?

सोशल मीडिया ऑप्टिमाइजेशन (एसएमओ) भुगतान प्रति क्लिक विज्ञापन या पीपीसी प्रबंधन।

SEO में SMO क्या है?

SEO शब्द का अर्थ सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन है। यह एक प्रक्रिया है। जिसका उपयोग सर्च इंजन में वेबसाइट की रैंकिंग को बेहतर बनाने के लिए किया जाता है। SMO का मतलब सोशल मीडिया ऑप्टिमाइजेशन है। द.

डिजिटल मार्केटिंग में SMM क्या है?

सोशल मीडिया मार्केटिंग (SMM) शब्द का तात्पर्य किसी कंपनी के उत्पादों और सेवाओं के विपणन के लिए सोशल मीडिया और सोशल नेटवर्क के उपयोग से है। सोशल मीडिया मार्केटिंग में उद्देश्य-निर्मित डेटा एनालिटिक्स टूल हैं जो विपणक को अपने प्रयासों की सफलता को ट्रैक करने की अनुमति देते हैं।

एसएमओ मार्केटिंग क्या है?

सोशल मीडिया ऑप्टिमाइजेशन (एसएमओ) एक संगठन के संदेश और ऑनलाइन उपस्थिति को प्रबंधित करने और विकसित करने के लिए सोशल मीडिया नेटवर्क का उपयोग है। डिजिटल मार्केटिंग रणनीति के रूप में, सोशल मीडिया ऑप्टिमाइज़ेशन का उपयोग नए उत्पादों और सेवाओं के बारे में जागरूकता बढ़ाने, ग्राहकों से जुड़ने और संभावित हानिकारक समाचारों को कम करने के लिए किया जा सकता है।

SEO और SEM Mcq में क्या अंतर है?

SEO और SEM के बीच आम तौर पर स्वीकृत अंतर क्या है? एसईओ एक पश्चिमी तट शब्द है, सेम अधिक पूर्वी तट है।

एसएमओ एसईओ क्या है?

SEO SMO SMM क्या है?

SEO का लक्ष्य ऑर्गेनिक सर्च रिजल्ट के जरिए सर्च इंजन यूजर्स को आपकी वेबसाइट तक पहुंचाना है। SEM सर्च इंजन मार्केटिंग है। इसमें SEO और PPC विज्ञापन शामिल हैं (सशुल्क विज्ञापन जो आप खोज करते समय Google के एसएमएम और एसएमओ के बीच अंतर शीर्ष पर देखते हैं)। SMM सोशल मीडिया मार्केटिंग का संक्षिप्त रूप है।

कोरोना काल में कर्मचारियों ने दिखाया दम तो कंपनी ने किया पुरस्कृत

"सेल कार्पोरेट अवार्ड्स फॉर एक्सिलेंस" की स्थापना सेल कार्मिकों के विभिन्न क्षेत्रों में अनुकरणीय प्रदर्शन और असाधारण योगदान को मान्यता प्रदान करने और सम्मानित करने के लिए कंपनी के स्तर पर एक मंच तैयार करने के लिए की गई है।

कर्मचारियों ने दिखाया दम तो कंपनी ने किया पुरस्कृत

कर्मचारियों ने दिखाया दम तो कंपनी ने किया पुरस्कृत

हाइलाइट्स

  • कोरोना काल में दिल लगा कर काम करने वाले कर्मचारियों को स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) ने पुरस्कृत किया है
  • कंपनी ने गुरुवार को नई दिल्ली स्थित अपने कॉर्पोरेट ऑफिस में आयोजित एक वर्चुअल समारोह के दौरान “सेल कार्पोरेट अवार्ड्स फॉर एक्सिलेंस 2020” का वितरण किया
  • सेल अध्यक्ष अनिल कुमार चौधरी ने कार्यकारी निदेशकों की उपस्थिति में विजेता कार्मिकों को पुरस्कृत किया

सराहना करने से बढ़ता है उत्साह
सेल अध्यक्ष ने पुरस्कृत कार्मिको को बधाई देते हुए कहा- “सेल कार्पोरेट अवार्ड्स फॉर एक्सिलेंस” की स्थापना सेल कार्मिकों के विभिन्न क्षेत्रों में अनुकरणीय प्रदर्शन और असाधारण योगदान को मान्यता प्रदान करने और सम्मानित करने के लिए कंपनी के स्तर पर एक मंच तैयार करने के लिए की गई है। इस पहल का उद्देश्य कार्मिकों के बीच उत्कृष्टता की भावना को पोषित करने, उनके असाधारण योगदान को पहचाने और उनके बीच और बेहतर करने के जुनून को प्रेरित करने का माहौल विकसित करना है। कंपनी में शीर्ष स्तर पर अधिकारियों की असाधारण उपलब्धियों को पहचानना, उन्हें सम्मानित करना, सराहना करना और खुशी मनाना प्रेरक माहौल को और अधिक बल प्रदान करेगा। इसके साथ ही कार्मिकों को नई चुनौतियों को स्वीकार करने और कर्तव्यों के निर्वहन में आगे बढ़ने का प्रयास करने के लिए प्रेरित करेगा।

वरिष्ठ अधिकारी हुए शामिल
इस पुरस्कार समारोह के दौरान सेल अध्यक्ष अनिल कुमार चौधरी के साथ, निदेशक (वाणिज्यिक) सोमा मण्डल, निदेशक (तकनीकी, परियोजनाएं और कच्चे माल) हरिनंद राय और निदेशक (वित्त) अमित सेन कॉर्पोरेट ऑफिस में मौजूद रहे, जबकि भिलाई इस्पात संयंत्र के निदेशक (प्रभारी) अनिर्बान दास गुप्ता, बोकारो इस्पात संयंत्र के निदेशक (प्रभारी) अमरेंदु प्रकाश, राउरकेला इस्पात संयंत्र के सीईओ डी चट्टराज, इस्को इस्पात संयंत्र, दुर्गापुर इस्पात संयंत्र एवं अलॉय स्टील्स प्लांट के सीईओ ए वी एसएमएम और एसएमओ के बीच अंतर कमलाकर अपने – अपने संयंत्रों से ऑनलाइन इस कार्यक्रम में शामिल हुए।

तीन श्रेणी में पुरस्कार
ये पुरस्कार तीन अलग-अलग श्रेणियों में प्रदान किए गए – बेस्ट सीईओ ऑफ द ईयर अवार्ड, बेस्ट एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर ऑफ द ईयर अवार्ड और सेल कॉर्पोरेट अवार्ड फॉर एक्सिलेंस (10 अलग – अलग वर्गो में)। इस अवार्ड में नकद पुरस्कार, ट्रॉफी और प्रशस्ति पत्र प्रदान किए शामिल हैं।राउरकेला इस्पात संयंत्र के सीईओ डी चट्टराज को उनके अनुकरणीय विज़न और संयंत्र को नई ऊंचाइयों पर ले जाने एवं बेंचमार्क स्थापित करने की प्रतिबद्धता के लिए बेस्ट सीईओ ऑफ द ईयर अवार्ड से सम्मानित किया गया। एसएमएम और एसएमओ के बीच अंतर इस साल का एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर ऑफ द ईयर अवार्ड संयुक्त रूप से एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर (एल एंड आई) एल एन मल्लिक और एक्सिक्यूटिव डायरेक्टर (वर्क्स), आरएसपी पी के दाश को प्रदान किया गया।

10 वर्गों में अवार्ड फॉर एक्सिलेंस
सेल कॉर्पोरेट अवार्ड फॉर एक्सिलेंस 10 अलग – अलग वर्गो में प्रदान किया गया, जिसमें सेफ़्टी लीडर के लिए सीजीएम, एसएसओ एस वशिष्ठ, कॉस्ट चैंपियन के लिए जीएम (ईटीएल), बीएसएल, बिनय कुमार, प्रोडक्विटी एक्सपर्ट के लिए (एसएमएस - III), बीएसपी, जितेन्द्र कुमार, इनोवेशन आर्किटेक्ट के लिए एजीएम (INCOS), बीएसपी, अमित कुमार, मार्केटिंग पंडित के लिए डीजीएम (मार्केटिंग), आरएसपी, राकेश ढौंडियाल, मोटिवेशन गुरु के लिए सीजीएम (प्लेट मिल) आरएसपी, ए के प्रधान, डिजिटलीकरण मास्टरमाइंड के लिए जीएम (सी एंड आईटी), सीएमओ, गोमती जयरामन, अनुसंधान और विकास विशेषज्ञ के लिए सीजीएम (गुणवत्ता), आईएसपी, निरविक बनर्जी, संचार विज़ार्ड के लिए जीएम (कार्मिक) आरएसपी टीजी कानेकर, वुमेन ट्रेलब्लेज़र के लिए जीएम (वायर एंड रॉड मिल), बीएसपी अनुपमा कुमारी को पुरस्कृत किया गया।

परिवार नियोजन के लिए शुरू हुआ दंपत्ति संपर्क पखवाड़ा

परिवार नियोजन के लिए शुरू हुआ दंपत्ति संपर्क पखवाड़ा

वाराणसी। "परिवार नियोजन का अपनाओ उपाय, लिखो तरक्की का नया अध्याय", जी हाँ ! इस बार विश्व जनसंख्या दिवस (11 जुलाई) की यही थीम है। इस खास दिवस और जनसंख्या स्थिरीकरण को बढ़ावा देने के लिए शासन की ओर से वृहद दिशा-निर्देश दिये गए हैं। इसके साथ ही जनपद में दंपत्ति संपर्क पखवाड़ा शुरू हो चुका है, जिसमें समुदाय को परिवार नियोजन के स्थायी और अस्थायी साधनों (बास्केट ऑफ च्वोइस) के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी। इसके बाद जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा (11 से 31 जुलाई तक) इच्छुक लाभार्थियों को सेवाएँ दी जाएंगी।


मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संदीप चौधरी ने बताया कि गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी विश्व जनसंख्या दिवस 11 जुलाई को मनाया जाएगा। वर्ष 2022 को आजादी के 75वीं वर्षगांठ के दृष्टिगत आज़ादी का अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। यह अवसर है कि परिवार नियोजन कार्यक्रम से जुड़ी उपलब्धियों को जनमानस के मध्य प्रदर्शित किया जाए। इस वर्ष शासन की ओर से निर्धारित विश्व जनसंख्या दिवस की थीम का मुख्य उद्देश्य जनमानस को सीमित परिवार के बारे में जागरूक बनाने के साथ परिवार नियोजन कार्यक्रम को गति प्रदान कराना भी है।

परिवार नियोजन के लिए शुरू हुआ दंपत्ति संपर्क पखवाड़ा

साथ ही पखवाड़े के दौरान समुदाय को संवेदीकृत किए जाने के लिए विभिन्न स्तर पर व्यापक व सघन प्रचार-प्रसार किया जाना चाहिए। विश्व जनसंख्या दिवस के तहत दो पखवाड़े आयोजित करने का निर्देश जारी किया गया है। इसमें 27 जून से 10 जुलाई तक दंपत्ति संपर्क पखवाड़ा और 11 जुलाई से 31 जुलाई तक जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जाएगा। पखवाड़े के दौरान जनपद में सीमित परिवार और जनसंख्या स्थिरीकरण के लिए जनजागरूक गतिविधियां आयोजित की जाएंगी।

सीएमओ ने जनपदवासियों से अपील की है कि परिवार नियोजन को लेकर लोगों के व्यवहार परिवर्तन की जरूरत है। कहा कि पुरुष नसबंदी सरल, सुरक्षित एवं महिला नसबंदी से बेहद आसान विधि है, इसलिए योग्य व इच्छुक लाभार्थी आगे आकर इस विधि का चुनाव करें तथा इसका लाभ उठायें। नवीन गर्भ निरोधक साधनों (अंतरा व छाया) का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाना चाहिये, जिससे जागरूकता आ सके।


एसीएमओ व परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ राजेश प्रसाद ने बताया कि पखवाड़ा के दौरान जिले, ब्लाक और गांव में मोबाईल प्रचार वाहन से परिवार नियोजन (बास्केट ऑफ च्वोइस) का सन्देश जोर एसएमएम और एसएमओ के बीच अंतर शोर से प्रचारित और प्रसारित किया जाएगा। इस बार के कार्यक्रम में डिजिटल प्लेटफार्म जैसे व्हाट्सएप, एसएमएस आदि की पूरी मदद ली जाएगी। साथ ही पात्र लाभार्थी को दो महीने के लिए गर्भनिरोधक गोली और कंडोम वितरित किया जाएगा। सभी सरकारी चिकित्सा इकाइयों पर कंडोम पेटिका स्थापित कराई जाएगी और उसमें खपत के आधार पर नियमित कंडोम भरवाया जाएगा। हर इच्छुक लाभार्थी के लिए पुरुष या महिला नसबंदी की पूर्व पंजीकरण की भी सुविधा होगी। गर्भ निरोधक साधनों को अपनाने पर लोंगों को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार द्वारा प्रोत्साहन राशि दी जाती है।

यूपीटीएसयू के वरिष्ठ जिला परिवार नियोजन विशेषज्ञ ने बताया कि दंपति संपर्क पखवाड़े के दौरान आशा कार्यकर्ता अपने कार्य क्षेत्र की आबादी में योग्य दंपत्ति को चिन्हित करेंगी। योग्य दंपत्ति यानि जिनको परिवार नियोजन के बारे में परामर्श की आवश्यकता है। लक्षित दंपत्ति को परिवार नियोजन के लिए बास्केट ऑफ चॉइस के बारे में बताया जायेगा। इसके बाद इच्छुक लाभार्थियों को सेवाएँ दी जाएंगी। उन्होने बताया कि दो बच्चों के जन्म के बीच कम से कम तीन साल का अंतर रखना चाहिए। इससे मातृ मृत्यु-दर में 30% एवं शिशु मृत्यु-दर में 10% की कमी लायी जा सकती है।

अग्निपथ योजना: हरियाणा में दूसरे दिन भी विरोध जारी, 40 से अधिक युवा गिरफ्तार

चंडीगढ़/फरीदाबाद। केंद्र सरकार की नयी ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ हरियाणा में शुक्रवार को दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन जारी रहा। अधिकारियों ने यह जानकारी दी कि सेना में भर्ती के आकांक्षी युवाओं ने सड़कों पर पहिए जलाए और कुछ युवा नरवाना में रेल पटरियों पर बैठ गए और जींद-बठिंडा रेल मार्ग को अवरुद्ध किया। रोहतक …

चंडीगढ़/फरीदाबाद। केंद्र सरकार की नयी ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ हरियाणा में शुक्रवार को दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन जारी रहा। अधिकारियों ने यह जानकारी दी कि सेना में भर्ती के आकांक्षी युवाओं ने सड़कों पर पहिए जलाए और कुछ युवा नरवाना में रेल पटरियों पर बैठ गए और जींद-बठिंडा रेल मार्ग को अवरुद्ध किया। रोहतक में प्रदर्शनकारी युवाओं ने पहिए जलाए, जबकि बल्लभगढ़ में राष्ट्रीय राजमार्ग-19 पर वाहनों पर पथराव करने के आरोप में 40 से अधिक युवाओं को गिरफ्तार किया गया।

पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारियों में मुख्य रूप से कॉलेज के छात्र शामिल थे। युवाओं ने ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ नारेबाजी की और अनाज मंडी के पास पथराव किया और प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया गया। पुलिस ने कहा कि कानून-व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए रेवाड़ी से भारतीय रिजर्व बटालियन की एक टुकड़ी बुलाई गई है। इस बीच, पुलिस ने पलवल जिले में बृहस्पतिवार को हुई हिंसा को लेकर एक हज़ार से अधिक लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

उन्होंने कहा कि हिंसा के सिलसिले में तीन अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की गयी हैं। उन्होंने बताया कि दो प्राथमिकी पलवल अनुमंडल में और एक होडल अनुमंडल में दर्ज की गयी है। पुलिस विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि 80 नामज़द युवाओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, जबकि अन्य 950 की पहचान अभी नहीं की गई है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि वीडियो क्लिप और सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से सभी आरोपियों का सत्यापन और पहचान की जा रही है।

उन्होंने इस बारे में अतिरिक्त जानकारी नहीं दी। पलवल में हिंसक विरोध के बाद, हरियाणा सरकार ने एहतियात के तौर पर फरीदाबाद जिले के बल्लभगढ़ इलाके में मोबाइल इंटरनेट और एसएमएस सेवाओं को 24 घंटे के लिए अस्थायी रूप से निलंबित किया गया है।

BREAKING NEWS : जींद उपचुनाव परिणाम पर रणदीप सुरजेवाला ने दी बीजेपी को बधाई

हिंदी में देश की ब्रेकिंग न्यूज पढ़ें News state पर

ग्रेटर नोएडा : तीन दिन पहले लाइव वीडियो बनाकर सुसाइड करने वाले युवक की प्रेमिका ने भी आज आत्महत्या करली. सूरजपुर में युवक और युवती लिवइन में साथ रहते थे. घरवाले युवक की जबरदस्ती शादी कहीं और करवा रहे थे. ग्रेटर नोएड़ा के सूरजपुर थाना छेत्र की घटना.

कोलकाता : मेट्रो ट्रेन में लगी आग, दम दम और कवि सुभाष स्टेशन के बीच मेट्रो सेवा बंद

कोलकाता: आज दम दम स्टेशन पर मेट्रो ट्रेन के अंदर धुआं पाया गया, सभी यात्रियों को सुरक्षित निकाल लिया गया, दम दम और कवि सुभाष स्टेशन के बीच मेट्रो सेवा बंद कर दी गई है.

गाजियाबाद में स्वाइन फ्लू के 50 मामले आए सामने

गाजियाबाद में भी स्वाइन फ्लू तेजी से फैल रहा है गाजियाबाद के सीएमओ एन के गुप्ता की मानें तो अब तक गाजियाबाद में 50 लोगों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो चुकी है जबकि अभी 21 रिपोर्ट्स का आना बाकी है. सी एम ओ एन के गुप्ता का कहना है कि सभी सरकारी हॉस्पिटल्स में अलग से स्वाइन फ्लू वार्ड बना दिया गया है. इसके साथ ही एडवाइजरी भी जारी कर दी गई है स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर है. वहीं लोगों को भी स्वाइन फ्लू से बचने के लिए जागरूक किया जा रहा है.

राजस्थान की रामगढ़ विधानसभा सीट पर कांग्रेस ने मारी बाजी

राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ पहाड़िया की तबियत हुई खराब, एसएमएस अस्पताल के ICU में कराया गया भर्ती

त्रिवेंद्रम: केरल के वित्त मंत्री टीएम थॉमस इसाक ने राज्य विधानसभा में बजट पेश किया

राजस्थान : यात्रियों से भरी निजी बस पलटी, चालक सहित आधा दर्जन यात्री घायल

राजस्थान के बूंदी में यात्रियों से भरी निजी बस पलटी,चालक सहित आधा दर्जन यात्री घायल. हाइवे 52 जरखोदा के पास हुआ हादसा. तालेड़ा पुलिस मौके पर पहुंची, घायलों को बूंदी अस्पताल में करवाया गया भर्ती.

जयपुर : अलवर जिले की रामगढ़ विधानसभा सीट पर 28 जनवरी को हुए मतदान का आज आएगा परिणाम

अलवर जिले की रामगढ़ विधानसभा सीट पर 28 जनवरी को हुए मतदान का आज आएगा परिणाम. इस रिजल्ट के साथ ही राजस्थान विधानसभा का 200 सदस्यों का कोरम पूरा हो जाएगा. फिलहाल 199 सदस्यों वाली विधानसभा में कांग्रेस के 99 विधायक हैं. कांग्रेस ने अपने एक सहयोगी दल के सदस्य के समर्थन से मैजिक फिगर 100 के आंकड़े को टच किया था.

नई दिल्ली: कोहरे और खराब विजिबिलिटी की वजह से 10 ट्रेनें लेट चल रही हैं

रेटिंग: 4.32
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 136