डेली एसआईपी म्युचुअल फंड के बारे में जानें

अच्छे पुराने दिनों को याद करें जब हम अपने गुल्लक में पैसे बचाते थे ताकि हम एक निश्चित अवधि के बाद हमेशा अपनी जरूरत की चीजें खरीद सकें। यह वास्तव में एक अच्छी आदत थी जिसे हम अब भूल चुके हैं। लेकिन क्या होगा अगर ZFunds में SIP में निवेश क्यों करें हम आपको बताएं कि आप उस आदत को अब और अधिक डिजिटल तरीके से जारी रख सकते हैं और उस पर रिटर्न भी अर्जित कर सकते हैं! दिलचस्प लगता है, है ना?

हम बात कर रहे हैं डेली सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान यानी daily SIP की। और हमें यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि ZFunds डेली SIP की सुविधा देने वाला पहला प्लेटफॉर्म बन गया है। इस लेख में, हम डेली SIP के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करने जा रहे हैं और कैसे निवेशक ZFunds ऐप के माध्यम से इसका सबसे अधिक लाभ उठा सकते हैं।

डेली SIP क्या है ?

डेली सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) एक अवधारणा है और म्यूचुअल फंड में निवेश करने के तरीकों में से एक है। इसे अनुशासित तरीके से एक निश्चित राशि के साथ डेली आधार पर एमएफ में निवेश कहा जा सकता है। यह योजना निवेशकों को अपने वित्तीय लक्ष्यों के अनुसार निवेश करने और लंबी अवधि में एक छोटी राशि का निवेश करके लंबी अवधि की संपत्ति बनाने की सुविधा प्रदान करती है। नियमित कैश फ्लो या निश्चित आय वाले निवेशक अपने वित्तीय और धन लक्ष्यों को पूरा करने के लिए डेली SIP कर सकते हैं। इसके अलावा, SIP नियमित रूप से बचत और निवेश करने की आदत डालने का सबसे अच्छा विकल्प है और इस पहलू में डेली SIP केक पर चेरी हैं।

एक डेली SIP में निवेश क्यों करना चाहिए

सीमित कौशल और ज्ञान, पैसा या समय रखने वाले निवेशकों के लिए, डेली SIP सादगी और अन्य गुण प्रदान कर सकता है। निवेशकों को इसके लिए जाना चाहिए क्योंकि यह परिवर्तनीय बाजारों और अस्थिरता के प्रभाव को कम करता है। साप्ताहिक या मासिक आधार पर नियमित SIP की तुलना में निवेशक अधिक रिटर्न की उम्मीद कर सकते हैं। आइए पहलुओं पर विस्तार से चर्चा करें:

जब कोई निवेशक डेली SIP शुरू करता है, तो अक्सर अनुशासन के साथ डेली आधार पर एक निश्चित राशि का निवेश किया जाता है। यह शेयर बाजार के कम होने पर अधिक यूनिट खरीदने की अनुमति देता है क्योंकि म्यूचुअल फंड का एनएवी कम हो जाएगा। इसी तरह, जब बाजार बढ़ता है, तो कम संख्या में इकाइयाँ आवंटित की जाती हैं। इस घटना को रूपी कॉस्ट अवेरजिंग कहा जाता है और डेली SIP इस लाभ को प्राप्त करने के लिए अत्यधिक उपयोगी होगा।

बोझ कम करता है:

हर महीने या निश्चित अंतराल पर एकमुश्त पैसा निकालना कई निवेशकों के लिए थोड़ा मुश्किल हो सकता है और यही अनुशासनहीनता का प्रमुख कारण है, जिसके परिणामस्वरूप निवेश छोड़ना पड़ता है। डेली SIP में, प्रतिदिन एक SIP में निवेश क्यों करें छोटी राशि जमा की जाती है जो बदले में हर महीने एक अच्छी राशि के रूप में होती है। तो यह एक बार के बोझ को कम करता है और बेहतर परिणाम देता है।

छोटी शुरुआत करें और धन का निर्माण करें:

जैसा कि ऊपर चर्चा की गई है, डेली आधार पर निवेश राशि केवल 100 रुपये से शुरू होती है, और निवेशक हर दिन इस छोटी राशि को निकाल सकते हैं और लंबी अवधि में अपनी संपत्ति और कोष का निर्माण देख सकते हैं।

एक उदाहरण के माध्यम से डेली SIP की शक्ति

मान लीजिए कोई निवेशक आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल स्मॉल कैप फंड में 10 साल के लिए रोजाना 100 रुपये का निवेश करता है, तो वे 6,23,202 रुपये कमा पाएंगे और अगर वे उसी फंड में रोजाना 200 रुपये के साथ आगे बढ़ते हैं, तो वे 12,46,404 रुपये का कॉर्पस बना सकते हैं।

और इस तरह डेली SIP आपकी निवेश योजना में आपकी काफी मदद कर सकता है और आपकी सेवानिवृत्ति के लिए धन कमा सकता है।

ZFUNDS ऐप के माध्यम से डेली SIP शुरू करने के लिए कदम

  • ZFunds ऐप डाउनलोड करें और अपने क्रेडेंशियल्स के जरिए लॉग इन करें।
  • बैनर/विकल्प पर क्लिक करें 'डेली SIP योजना का परिचय'
  • आप भारत में 3 शीर्ष फंड हाउस, यानी टाटा, एचडीएफसी और आईसीआईसीआई के शीर्ष 5 फंडों में निवेश कर सकते हैं।
  • आप आईसीआईसीआई में 100 रुपये, टाटा में 150 रुपये और एचडीएफसी में 300 रुपये से शुरू कर सकते हैं और आगे 100 रुपये के गुणकों में निवेश किया जा सकता है।
  • वह फंड चुनें जिसमें आप निवेश करना चाहते हैं और 'कार्ट में जोड़ें' बटन पर क्लिक करें।
  • राशि दर्ज करें और वन-टाइम मैंडेट के बीच चयन करें और अभी भुगतान करें। वन टाइम मैंडेट को सेट होने में 15-20 दिन लग सकते हैं और फिर यह बिना किसी परेशानी के अपने आप शुरू हो जाएगा और अभी भुगतान करें विकल्प आपको पहला निवेश तुरंत करने देगा।
  • एक बार भुगतान हो जाने के बाद, निवेश किया जाएगा। निवेशकों को ध्यान रखना चाहिए कि निवेश केवल कार्य दिवसों पर किया जाता है न कि सप्ताहांत और सार्वजनिक छुट्टियों पर।
  • आप अन्य विवरणों के साथ पोर्टफोलियो सेक्शन में निवेश की जांच कर सकते हैं।

ZFUNDS ऐप के माध्यम से निवेश करने के लाभ

हमारे ऐप के माध्यम से निवेश करते समय, निवेशक हर संभव तरीके से विशेषज्ञ सलाह और सहायता प्राप्त कर सकते हैं। हम अपने उपयोगकर्ताओं के लिए 24*7 आपकी सेवा में हैं, ताकि उन्हें धन और वित्तीय योजना बनाने में मदद मिल सके। हमारे विशेषज्ञ आपकी आवश्यकताओं और जोखिम उठाने की क्षमता का विश्लेषण और अध्ययन करने के बाद निवेशकों को यह चुनने के लिए मार्गदर्शन कर सकते हैं कि किस फंड में निवेश करना है। हमारा उद्देश्य पूरे देश में 'सही और आसन' निवेश करना है।

पूछे जाने वाले प्रश्न

डेली SIP क्या हैं?

Daily Systematic Investment Plan (डेली SIP) एक अवधारणा है और म्यूचुअल फंड में निवेश करने का एक तरीका है। इसे अनुशासित तरीके से एक निश्चित राशि के साथ डेली आधार पर एमएफ में निवेश कहा जा सकता है।

डेली और मासिक SIP में क्या अंतर है?

दोनों के बीच बड़ा अंतर यह है कि डेली SIP डेली आधार पर निवेश करता है जबकि मासिक SIP में हर महीने निवेश किया जाता है।

डेली SIP के क्या लाभ हैं?

निवेशक कम बोझ और लचीलेपन के साथ-साथ छोटे से शुरू करने और लंबे समय में धन का निर्माण करने के लिए डेली SIP द्वारा रुपये की औसत लागत का लाभ उठा सकते हैं।

ZFunds ऐप के माध्यम से डेली SIP में कैसे निवेश करें?

निवेशक ZFunds ऐप को इंस्टॉल और लॉग इन कर सकते हैं और आगे बढ़ने के लिए डेली SIP प्लान बैनर/टैब पर क्लिक कर सकते हैं। विस्तृत विवरण के लिए, हमारा वीडियो यहां देखें।

क्या है SIP के जरिए Mutual Fund में निवेश का सही तरीका? कैसे बनें स्मार्ट इन्वेस्टर

Mutual Fund में SIP या दूसरे तरीकों से निवेश का मतलब यही है कि बुरे वक्त में निवेश जारी रखा जा सके। स्मार्ट इन्वेस्टर इस बात का अनुमान नहीं लगाते कि मार्केट किस दिशा में जा रहे हैं। वो निवेश का सही जरिया तलाश लेते हैं।

धीरेंद्र कुमार, नई दिल्ली। कंपनी की बुनियादी बातों पर ध्यान देने वाले उनके लाभ, वृद्धि, मूल्यांकन जैसी बातों SIP में निवेश क्यों करें को अच्छी तरह से जानते हैं। यह सब जानना-समझना ही कई साल के निवेश में सही नतीजे देता है। यह बातें किसी एक दिन का नंबर तय नहीं करतीं। स्क्रीन पर नजर आने वाले नंबर मौजूदा दामों पर होने वाली सप्लाई और डिमांड के आधार पर तय होते हैं।

डिमांड ज्यादा होने पर दाम तब तक ऊपर जाते हैं जब तक दोनों एक ही स्तर पर नहीं आ जाते। यही माइक्रो-इकोनमिक्स की सबसे बुनियादी बात है। शेयर मार्केट एक शानदार प्रयोगशाला है जिसमें इसी का अध्ययन होता है।

Understanding the right investment is most important

शेयर मार्केट में बदलाव अचानक क्यों होते हैं

असल अर्थव्यवस्था में सप्लाई-डिमांड और धन की सप्लाई में मायने रखने वाला बदलाव कई महीनों या वर्षों SIP में निवेश क्यों करें में आता है। शेयर मार्केट में यह कुछ ही दिनों, घंटों या मिनटों और सेकेंडों में हो जाता है। बुनियादी कारकों के आधार पर चलने वाले निवेशक जिन SIP में निवेश क्यों करें बातों पर भरोसा करते हैं वो केंद्र में बनी रहती हैं, मगर शार्ट-टर्म के बदलावों का चक्र अलग होता है।

आखिर इन शार्ट-टर्म बदलावों को क्या ड्राइव करता है? कभी आप टीवी पर कोई बिजनेस चैनल खोलें या किसी न्यूज वेबसाइट को देखें तो पाएंगे कि हाल ही के किसी आकंड़े या घटना का कारण बताया जाएगा। इसमें, तेल के दाम, ब्याज दर, राजनीतिक घटनाएं या कुछ भी हो सकता है।

बाजार कैसे अपनी दिशा बदलता है

असल में ज्यादातर को इन बदलावों के कारण और तर्क पता नहीं होते। सच तो ये है कि इनका पता नहीं लगाया जा सकता। जो कारण आपको मीडिया और सोशल मीडिया से पता चलते हैं, वो घटना के बाद की ईजाद होते हैं। जो स्टाक में निवेश करते हैं उनके पास दूसरी कई तरह की जानकारियों पर आधारित विश्लेषण होते हैं, जो इससे भी विस्तृत होते हैं। आप कैसे अनुमान लगाएंगे कि मार्केट ऊंचाई पर हैं या नीचे।

अनुमान पर आधारित आंकड़े या मान्यताओं पर बने नियमों को यह कह कर प्रमोट किया जाता है कि मार्केट इतना ऊंचा है कि वो अब जल्द ही गिरने वाला है या फिर इतने नीचे है कि अब बढ़ना शुरू हो जाएगा। मिसाल के तौर पर- रिकार्ड हाई वैल्युएशन, इक्विटी में बड़ी संख्या में नए निवेशकों का आना, इक्विटी मार्केट में वाल्यूम का ज्यादा होना और इसी तरह की दूसरी स्थितियां मार्केट के शीर्ष पर होने के संकेत माने जाते हैं। मार्केट का नीचे होना इन सब बातों का उलटा होना होता है। आपको क्या लगता है कि ये संकेत काम आते हैं। काम आने से मतलब है कि इन संकेतों से आप जान सकें कि मार्केट अपनी दिशा बदलेगा।

एसआईपी से मार्केट क्रैश की चिंता नहीं

सच तो ये है कि आप ऐसा नहीं कर सकते। जैसे टीवी एंकर हर रोज के बदलावों के कारण बताते हैं, वैसे ही ये भी बाद में दिए गए स्पष्टीकरण हैं। हालांकि अपवाद हमेशा ही होते हैं। सही होगा, अगर आप मार्केट की चाल को लेकर अपने (या दूसरों के) विश्वास के आधार पर कभी निवेश न करें।

निवेशकों को अपना निवेश, भविष्य के अनुमान पर न करके इन्वेस्टमेंट की क्वालिटी पर, और उस दाम पर करना चाहिए, जो सही आंतरिक कारकों पर आधारित हो। म्यूचुअल फंड इन्वेस्टर्स के लिए समस्या से निबटना और भी आसान है। उन्हें दो या तीन इक्विटी फंड चुनने चाहिए, जिनका लंबे अर्से का अच्छा रिकार्ड हो। उन्हें अपना निवेश एसआइपी के जरिये किस्तों में करना चाहिए और मार्केट क्रैश की चिंता नहीं करनी चाहिए।

(लेखक वैल्यू रिसर्च आनलाइन डाट काम के सीईओ हैं। ये उनके निजी विचार हैं।)

Investment Tips: पांच साल में 5 लाख जमा करना चाहते हैं, हर महीने SIP में करें इतना निवेश

Investment Tips: आप म्यूचुअल फंड में एसआईपी के जरिए पैसा लगा सकते हैं। आजकल लोगों में SIP करने का क्रेज बढ़ता ही जा रहा है। इसमें आप साप्ताहिक, मासिक या तिमाही आधार पर पैसा लगा सकते हैं। निवेश करने से पहले उसके प्लान की जानकारी लें।

Investment Tips: पांच साल में 5 लाख जमा करना चाहते हैं, हर महीने SIP में करें इतना निवेश

Investment Tips: अगर आप पांच साल में बड़ी रकम जमा करना चाहते हैं, तो यह खबर आपके लिए है। आप हर महीने सिर्फ 6500 रुपये की बचत करके 5 साल में पांच लाख रुपये से ज्यादा जमा कर सकते हैं। एक व्यवस्थित निवेश योजना आपको अपना सपना पूरा करने में मदद कर सकती है। इसमें आप नियमित अंतराल पर छोटी रकम निवेश कर सकते हैं। यदि आप पांच वर्ष में लाखों रुपये जमा SIP में निवेश क्यों करें करना चाहते हैं तो आइए जानते हैं एसआईपी कैलकुलेटर (SIP Calculator) की मदद से इस निवेश के बारे में।

पांच साल में 5 लाख कैसे जमा करें?

अगर आप 5 साल के लिए सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (Systematic Investment Plan) में हर महीने 6500 रुपये का निवेश करते हैं, तो आपका कुल निवेश 3,90,000 रुपये होगा। इस तरह 12 फीसदी ब्याज दर पर आपको रिटर्न के तौर पर 1,46,161 रुपये मिलेंगे। ऐसे में पांच साल बाद कुल राशि 5,31,161 हो जाएगी।

एसआईपी क्या है?

आप म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में एसआईपी (SIP) के जरिए पैसा लगा सकते हैं। आजकल लोगों में SIP करने का क्रेज बढ़ता ही जा रहा है। इसमें आप साप्ताहिक, मासिक या तिमाही आधार पर पैसा लगा सकते हैं। इसकी सबसे खास बात यह है कि आप इसमें 500 रुपये से निवेश शुरू कर सकते हैं। हालांकि किसी भी एसआईपी या म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले उसके प्लान की जानकारी लें।

IDFC First Bank के ग्राहकों की हुई मौज, फ्री में मिलेंगी 25 बैंकिंग सर्विस

होम लोन में होगा सहायक

मान लीजिए आप 50 लाख रुपये का होम लोन लेते हैं। 20 साल में 1 करोड़ रुपये ब्याज सहित बैंक को देते हैं। अब आप सोच रहे हैं कि इसे कैसे चुकाएं। SIP इसमें आपकी मदद कर सकता है। आइए इसे आंकड़ों से समझते हैं।

अगर आपने 8 फीसदी सालाना ब्याज दर पर 50 लाख रुपये का होम लोन लिया है, तो आपकी EMI 41,822 रुपये होगी। यदि आपका लोन 20 वर्ष के लिए है, तो आपको ब्याज के तौर पर 50.37 लाख रुपये देने होंगे। मकान की कीमत 50 लाख रुपये है। इसके लिए आपने 1 करोड़ 37 हजार रुपये ब्याज सहित खर्च किए। मान लीजिए कि आप ईएमआई का सिर्फ 25 फीसदी यानी 10,912 रुपये निवेश करना शुरू कर देते हैं। आप इस पर करीब 12 फीसदी वार्षिक रिटर्न कमा सकते हैं। इस तरह आपके पास 20 साल में 1.1 करोड़ रुपये का फंड होगा।

सिप में निवेश करने को चाहिए बस 5 मिनट

सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (सिप) आपको हर महीने एक निश्चित रकम को आपके पसंदीदा SIP में निवेश क्यों करें म्यूचुअल फंड स्कीम में डालने का अवसर देता है.

सिप में निवेश करने को चाहिए बस 5 मिनट

इनमें से ऐसे निवेशक भी हैं जो पहले से ही सिप में निवेश कर रहे हैं, लेकिन उसकी स्थिति को लेकर बहुत क्लियर नहीं हैं. यहां हम आपके लिए सिप का एक क्विक गाइड पेश कर रहे हैं.

इसकी मदद से आप जान पाएंगे कि कैसे म्यूचुअल फंड में सिप का इस्तेमाल कर आप भी लंबी अवधि में बड़ी संपत्ति बना सकते हैं.

सिप (SIP) क्या है?
सिप (SIP) या सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान आपको हर महीने एक निश्चित रकम को आपकी पसंदीदा Mutual Fund स्कीम में डालने का अवसर देता है. यह आमतौर पर इक्विटी म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में शुरू किया जाता है.

सिप (SIP) क्यों शुरू करें?
Mutual Fund निवेश में अनुशासन का बहुत महत्व है. सिप आपके इसी अनुशासन को कायम रखता है. इसके अलावा सिप (SIP) नियमित रूप से Mutual Fund में निवेश जारी रखता है भले ही शेयर बाजार में तेजी हो या मंदी.

मसलन, अगर आपने किसी म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) स्कीम में एक निश्चित रकम हर महीने डालने का फैसला किया तो आपको इसके लिए समय निकलना पड़ेगा.

दूसरी बात यह कि आप समय निकालकर Mutual Fund में निवेश करने बैठें और शेयर बाजार कमजोर हो या तेज हो तो आपको लगता है कि कहीं आपका निवेश डूब ना जाय और इस वजह से आप फैसले को टाल देते हैं.

सिप (SIP) इन सभी परेशानियों से आपको बचाता है और निर्धारित दिन आपकी पसंदीदा Mutual Fund स्कीम में पहले से तय राशि आपके बैंक अकाउंट से लेकर निवेश कर देता है.

SIP

सबसे बड़ी बात इसमें कम्पाउंडिंग का फायदा है. अगर आप लंबी अवधि तक Mutual Fund में निवेश करते हैं और रिटर्न कमाते हैं तो आपके इस रिटर्न पर भी आपको रिटर्न मिलता रहता है जब तक कि आप उस रकम को निकाल ना लें. इससे अंत में आपको एक बड़ा फंड जुटाने में मदद मिलती है.

सिप (SIP) शुरू करने के लिए कितनी रकम चाहिए?
आप किसी म्यूचुअल फंड (Mutual Fund ) स्कीम में सिप सिर्फ SIP में निवेश क्यों करें 500 रूपये महीने की रकम से शुरू कर सकते हैं.

क्या सिप (SIP) को जारी रखा जा सकता है?
हां. बहुत से सिप (SIP) हालांकि तय अवधि के लिए शुरू किये जाते हैं और उनमें हर महीने एक निश्चित रकम डाली जाती है, निवेशक सिप को अपने हिसाब से कस्टमाइज कर सकते हैं.

बहुत से फंड हाउस निवेशक को मासिक, पाक्षिक और पखवाड़े के हिसाब से भी निवेश करने की सुविधा देते हैं.

सिप (SIP) में निवेशक के पास निर्धारित रकम को घटाने-बढ़ाने का विकल्प भी होता है. एलर्ट सिप (SIP) के जरिये निवेशकों को ऐसी सूचना भी मिलती है जिसमें शेयर बाजार की कमजोरी पर अधिक रकम निवेश करने का मौका उपलब्ध कराया जाता है.

दीर्घकालीन सिप (SIP) में निवेशकों को समाप्ति की तारीख चुनने की जरूरत नहीं होती. एक बार जब आपके निवेश का लक्ष्य पूरा हो जाये, तब आप फंड हाउस को एक सूचना देकर इसे बंद करा सकते हैं.

इस तरीके से आप खुद ही शुरू कर सकते हैं सिप में निवेश

आई-सिप है आसान और सुरक्षित तरीका

म्यूचुअल फंडों में निवेश करना दिनोंदिन आसान और सुविधाजनक हो रहा है. सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (SIP) को म्यूचुअल फंडों में निवेश के लिए काफी सुरक्षित तरीका माना जाता है. अब SIP में निवेश क्यों करें आप घर बैठे म्यूचुअल फंड में सिप को सेट कर सकते हैं. आई-सिप इसका आसान और सुरक्षित तरीका है. इसके जरिए ऑनलाइन सिप शुरू किया जा सकता है. इसके लिए एसेट मैनेजमेंट कंपनी के दफ्तर जाने की जरूरत नहीं है. न ही सिप करने के लिए फिजकल फॉर्म और प्रूफ अटैच करने की आवश्यकता है.

रेटिंग: 4.92
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 335